What is Cryptojacking क्रिप्टोजैकिंग क्या है ?

0
1338

What is Cryptojacking क्रिप्टोजैकिंग क्या है इससे कैसे बचें

हम सभी लोग इन्टरनेट का इस्तेमाल करते हैं एक बार डाटा पैक रिचार्ज करने के बाद हम इन्टरनेट पर फ्री में किसी भी वेबसाइट को आसानी से उपयोग करते हैं लेकिन क्या आपको पता है सभी वेबसाइट के मालिक किसी न किसी तरह से पैसा कमाते है। पैसे कमाने के तरीके अलग हो सकते हैं लेकिन पैसा सभी वेबसाइट के मालिक कमाते हैं लेकिन अभी एक नया तरीका सामने आया है जिसका नाम है क्रिप्टोजैकिंग।

CRYPTOJACKING

Cryptojacking

आज के इस आर्टिकल में क्रिप्टोजैकिंग के बारे में, इससे कैसे कमाई करते हैं, इससे हमें क्या नुकसान होता है, इसका उपयोग कौन करता है और भी कई सारी चींजों के बारे में जानेंगे।

क्रिप्टोजैकिंग (Cryptojacking)क्या है

क्रिप्टोजैकिंग एक ऐसा तरीका है जिसमे हैकर आपके कंप्यूटर, स्मार्टफ़ोन के क्षमता/ ताकत को उपयोग करके क्रिप्टोकरंसी माइन (कमाते हैं ) करते हैं। इस तरीके में हैकर कंप्यूटर यूजर को बिना बताये बैकग्राउंड जावास्क्रिप्ट के जरिये आसानी से क्रिप्टोकरंसी कमाते हैं इसलिए लिए इसे क्रिप्टोजैकिंग कहा जाता है।

इस प्रोसेस में हैकर को आपके कंप्यूटर स्मार्टफोन में किसी भी तरह का अटैक नही करना पड़ता है। क्रिप्टोजैकिंग जावास्क्रिप्ट के जरिये काम करता है। जब भी आप किसी unsecure, malicious वेबसाइट पर होते हैं तब हैकर बैकग्राउंड में जावास्क्रिप्ट का इस्तेमाल करते हुए चोरी छुपे आपके कंप्यूटर, स्मार्टफोन के पॉवर का इस्तेमाल करते हुए क्रिप्टोकरंसी माइन करतें है। क्रिप्टोजैकिंग से बिटकॉइन जैसे क्रिप्टोकरंसी को माइन नही किया जाता है मोनेरो जैसे क्रिप्टोकरंसी को माइन किया जाता है।

इन्हें भी पढ़ें –

क्रिप्टोजैकिंग सही है या गलत

crytojacking सही है या गलत इसके सम्बन्ध में सभी लोगों के अलग अलग मत हैं। कई सारे लोगो को मानना है की cryptojacking के जरिये पैसे कमाना सही है क्योंकि कई लोगो को वेबसाइट में विज्ञापन देखना अच्छा नही लगता है लेकिन कई लोगो को मानना यह की हमारे बिना इजाजत के हमारे कंप्यूटर के पॉवर का इस्तेमाल कर पैसे कमाना गलत है। आपको क्या लगता है Cryptojacking सही है या गलत? कमेंट बॉक्स में जरुर बताएं।

क्रिप्टोजैकिंग हो रही है या नही कैसे जानें

आप Cryptojacking के बारें में जान गए होंगे लेकिन आपके मन में यह प्रश्न आ रहा होगा की आखिर कैसे पता करें की हमारे कंप्यूटर या मोबाइल में कोई हैकर क्रिप्टोकरंसी माइन कर रहा है। मैं आपको कुछ आसान से तरीके बता रहा हूँ इनके मदद से आप आसानी से पहचान सकते हैं की क्रिप्टोजैकिंग हो रही है या नही।

जब आप किसी वेबसाइट पर जाते हैं और नीचे बताये गए बातें आपके साथ होतीं हैं तो आपको समझ जाना चाहिए की आपके कंप्यूटर में क्रिप्टोजैकिंग हो रही है

  • अगर आपके कंप्यूटर का पंखा जरुरत से ज्यादा तेज चल रहा है
  • सी.पी.यू का (Uses) उपयोग जरुरत से ज्यादा हो रहा हो टास्क मेनेजर में जाकर देख सकते हैं।
  • आपके कंप्यूटर के बैटरी बहुत ही तेज़ी से डाउन हो रही हो

क्रिप्टोजैकिंग से होने वाले नुकसान

अगर आपके कंप्यूटर में क्रिप्टोजैकिंग हो रही हो तो आपको कई तरह से नुकसान हो सकता है तो चलिए जानतें हैं –

  • अगर आपके कंप्यूटर में लगातार क्रिप्टोजैकिंग होती रहे तो आपके बिजली का खर्चा बढ़ सकता है क्योंकि क्रिप्टोजैकिंग होने से आपके कंप्यूटर को ज्यादा पॉवर चाहिए होता है।
  • आपके कंप्यूटर पर बहुत ज्यादा लोड होता है जिसके कारण आपके कंप्यूटर का पंखा तेज़ चलने लगता है ज्यादा समय तक ऐसा ही चलता रहा तो हो सकता है आपके कंप्यूटर में कोई परेशानी हो जाये।

क्रिप्टोजैकिंग से कैसे बचें

अगर आप Cryptojacking से बचना चाहते हैं तो आपको नीचे बताये गए बिन्दुओं को फॉलो करना है –

  • सबसे पहली बात आपको किसी unsecure या  malicious वेबसाइट का उपयोग नही करना है।
  • आप अपने कंप्यूटर में जिस भी ब्राउज़र का उपयोग करते हैं उसमें आपको जावास्क्रिप्ट ब्लॉक कर सकते हैं।
  • आप अपने कंप्यूटर में टोर ब्राउज़र का उपयोग कर सकते हैं।
  • अपने क्रोम ब्राउज़र में एक्सटेंशन का उपयोग कर के Cryptojacking को रोक सकते हैं।
    No Coin - Block miners on the web!
    No Coin - Block miners on the web!
    Developer: Keraf
    Price: Free
     

इन्हें भी पढ़ें –

इस तरह से आप आसानी से क्रिप्टोजैकिंग से बच सकते हैं

मैं उम्मीद करता हूँ की मेरे द्वारा क्रिप्टोजैकिंग से सम्बंधित दी गई जानकारी आप लोगों के लिए हेल्पफुल रहा होगा अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो सोशल मीडिया में जरुर शेयर करें। कोई भी सुझाव हो तो कमेंट कर के हमें जरुर बतायें।

Cryptojacking in hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.