What is net neutrality in Hindi नेट न्यूट्रैलिटी क्या है

2
2637

What is net neutrality in hindi, नेट न्यूट्रैलिटी क्या है

आज के समय में हम सभी लोग किसी न किसी तरह इन्टरनेट से जुड़े हुए है। इन्टरनेट हमारी ज़िन्दगी में अहम भूमिका निभाती है ऐसे में आपने इन्टरनेट के इस अनोखी दुनियाँ में नेट न्यूट्रैलिटी के बारे में जरुर सुना होगा। नेट न्यूट्रैलिटी का मामला अमेरिका और बड़े अंतराष्ट्रीय कंपनियों के लिए विशेष मुद्दा बना हुआ। आज हम नेट न्यूट्रैलिटी के बारे में जानेंगे। अगर आप इन्टरनेट यूजर हैं तो आपको इस विषय के बारे में जरुर पता होना चाहिए।

net neutrality

Net neutrality

सबसे पहले नेट न्यूट्रैलिटी शब्द का इस्तेमाल कोलम्बिया विस्वविद्यालय के मीडिया विधि के प्राध्यापक टिम ने किया था। नेट न्यूट्रैलिटी को हम अन्य शब्दों में इन्टरनेट की स्वतंत्रता, नेट समानता,नेटवर्क तटस्थता भी कह सकते हैं।

What is net neutrality

नेट न्यूट्रैलिटी एक ऐसा सिद्धांत हैं जिसके अंतर्गत इन्टरनेट सेवा सभी के लिए सामान है। सामान्य शब्दों में – ” हम लोग इन्टरनेट उपयोग करने के लिए 2G,3G, 4G का रिचार्ज करवाते है, फिर हम आसानी से किसी भी वेबसाइट, एप्लीकेशन, सर्विस को उपयोग करते हैं। हमें किसी भी वेबसाइट एप्लीकेशन को उपयोग करने के लिए सामान स्पीड मिलती हैं। इसे ही नेट न्यूट्रैलिटी कहते हैं।

Pros For Net Neutrality

  • नेट न्यूट्रैलिटी का फायदा हम सभी इन्टरनेट उपभोक्ताओं को होगा। हम आजादी से इन्टरनेट का उपयोग कर सकते हैं। हम अपने पसंदीदा वेबसाइट पर बिना किसी रुकावट के विजिट कर सकते हैं, और आसानी से इन्टरनेट से जानकारी हासिल कर सकते हैं।
  • नए कम्पनियाँ, नए स्टार्टअप बिना किसी रुकावट के आसानी से अपनी पहुंच ग्राहकों तक इन्टरनेट के माध्यम से बना सकते हैं।
  • इन्टरनेट यूजर, इन्टरनेट पर क्या कर रहें हैं किस वेबसाइट, एप्लीकेशन का उपयोग करते हैं उसके अनुसार इन्टरनेट सर्विस प्रोवाइडर डाटा प्लान में किसी तरह का बदलाव नही कर सकते हैं। यानी की किसी विशेष वेबसाइट या किसी इन्टरनेट प्लेटफार्म के लिए ज्यादा पैसा नही देना पड़ेगा।

Cons Against Net Neutrality

  • जो वेबसाइट इन्टरनेट सर्विस प्रोवाइडर को ज्यादा रकम देंगे उन वेबसाइट के ही सर्विसेस लोगो तक फ्री में पहुंच पाएंगे, बाकी और वेबसाइट को यूजर उपयोग नही कर पाएगा क्योंकि और वेबसाइट ब्लाक कर दी जाएगी या फिर बहुत ही धीमें ओपन होगा। अगर यूजर अन्य वेबसाइट को भी उपयोग करना चाहता है तो उसके लिए अलग से पैसे देने होंगें।
  • नेट न्यूट्रैलिटी ख़त्म होने पर देश की सरकार ही सुनिश्चित करेगी  की इन्टरनेट का कौन सा भाग उपयोग कर सकते हो या नही
  • इन्टरनेट यूजर पूरी तरह से इन्टरनेट सर्विस प्रोवाइडर के निगरानी में रहेंगे
  • ज्यादा इन्टरनेट उपयोग करने के लिए आपको इन्टरनेट सेरिवे प्रोवाइडर को ज्यादा पैसे देंने पड़ेंगे

नेट न्यूट्रैलिटी ख़त्म होने पर सबसे ज्यादा फायदा इन्टरनेट सर्विस  प्रोवाइडर को होगा और इन्टरनेट यूजर पूरी तरह से उनके कण्ट्रोल में होंगे इसलिए हमेशा नेट न्यूट्रैलिटी को सपोर्ट करें इन्टरनेट हम सभी लोगों का हक़ है हमें एक साथ होना चाहिए।

अगर आप net neutrality के बारे में और अधिक जानना चाहते है तो Save the internet वेबसाइट पर जा सकते हैं।

मैं उम्मीद करता हूँ net neutrality के बारे में दी गई जानकारी आप लोगों के लिए हेल्पफुल रहा होगा अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो सोशल मीडिया में शेयर जरुर करें ताकि सभी लोग net neutrality के बारे में जान सकें।

What is net neutrality in hindi, नेट न्यूट्रैलिटी क्या है

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.