स्मार्टफोन आज के समय में हमारी जिन्दगी में अहम भूमिका अदा करते हैं, इसके बिना रह पाना काफ़ी मुश्किल है। स्मार्टफोन यूजर की संख्याँ में जिस तरह से बढ़ोतरी हो रही है वैसे ही साथ में कई सारे ऐसे मिथ जन्म लेते हैं जिनके बारे में आपको पता होना चाहिए। आज हम इस आर्टिकल में हम 07+ Smartphone Myths के बारे में जानेंगें। अगर आप एक स्मार्टफोन यूजर है तो इस आर्टिकल में बताये गए स्मार्टफोन मिथ्स के बारे में आपको पता होना चाहिए।

07+ Biggest Smartphone Myths

स्मार्टफोन यूजर कई बार गलतफ़हमी में रहकर कई लोगों से बहस कर लेते हैं और फिर बाद में सच्चाई जानने के बाद पश्चाताप करते हैं। ऐसी गलती आप न करें इसलिए नीचे कुछ कॉमन स्मार्टफोन मिथ्स के बारे में बताया गया है। आइये जानते हैं स्मार्टफोन से सम्बंधित कुछ ऐसी बातें जो सच नही है…

1Camera MP

कई सारे स्मार्टफोन यूजर कैमरा के मेगापिक्सल के नंबर को सुनकर कैमरा को अच्छा या बुरा कह देते हैं और तो और कई बार नए स्मार्टफोन खरीदने के दौरान ज्यादा मेगापिक्सल देखकर स्मार्टफोन चुन लेते हैं। ऐसा आपको बिलकुल नही करना चाहिए क्योंकि कैमरा का मेगापिक्सल ज्यादा होने से कैमरा बेहतर नही हो जाता है। किसी भी कैमरा की क्वालिटी कई सारे चीजों पर निर्भर करती है।

2Auto Brightness

सभी स्मार्टफोन में ब्राइटनेस का आप्शन होता है उसमें आप स्मार्टफोन के ब्राइटनेस को मैन्युअली या फिर आटोमेटिक मोड में उपयोग कर सकते हैं लेकिन कई सारे स्मार्टफोन यूजर सोचते हैं की अगर हम ब्राइटनेस को ऑटो में रखेंगे तो यह स्मार्टफोन के बैटरी को जल्द डिस्चार्ज होने से बचाएगा लेकिन यह बिलकुल गलत हैं। मेरी राय यही है की आप हमेशा ब्राइटनेस को मैन्युअली कण्ट्रोल करें।

3Overcharging

स्मार्टफोन के बैटरी से सम्बन्धित कई सारे मिथ्स है उनमें से एक है की हमें रात भर स्मार्टफोन को चार्ज पर लगा नही सकते या फिर फुल चार्ज होने के बाद अगर चार्ज में लगा हो तो बैटरी खरब हो जाएगी इत्यादि। आपको पता होना चहिये की रात-भर या ओवर चार्जिंग करने से स्मार्टफोन के बैटरी को किसी भी तरह से नुकसान नही होता है क्योकि स्मार्टफोन फुल चार्ज होने के बाद करेंट नही लेता है इलसिए आप बिंदास रात भर स्मार्टफोन को चार्ज पर लगा कर छोड़ सकते हैं और सुबह उपयोग कर सकते हैं।

4Third Party Apps

एंड्राइड स्मार्टफोन में आसानी से थर्ड पार्टी एप्लीकेशन को डाउनलोड इंस्टाल कर के उपयोग कर सकते हैं लेकिन कई सारे स्मार्टफोन यूजर के दिमाग में यह है की अगर आप थर्ड पार्टी एप्लीकेशन का उपयोग करने से वायरस मैलवेयर आते हैं लेकिन यह बात पूर्ण रूप से सच नही है, अगर आप कोई ऐसा एप्लीकेशन इनस्टॉल करते हैं जो वायरस, मैलवेयर से अफेक्टड है तब ही आप के स्मार्टफोन में वायरस मैलवेयर आ सकता है। प्ले स्टोर के आलवा कई सारे बेस्ट ट्रस्टटेड एप्प स्टोर हैं जहाँ से आप थर्ड पार्टी एप्लीकेशन को अपने स्मार्टफोन इनस्टॉल करके उपयोग कर सकते हैं।

5Background App

आपने कई बार गौर किया होगा कई सारे स्मार्टफोन यूजर अपने स्मार्टफोन में बैकग्राउंड में चल रहे एप्लीकेशन को बार बार बंद करते हैं और वो सोचते हैं ऐसा करने से स्मार्टफोन बेहतर परफॉर्म करेगा लेकिन यह बात सच नही है। बैकग्राउंड में जितने भी एप्लीकेशन आप उपयोग करते हैं वो सभी रैम में स्टोर हो जाते हैं जिससे अगली बार एप्लीकेशन खोलें तब आपको बेहतर स्पीड मिल सके। बैकग्राउंड एप्लीकेशन को बार बार बंद कर के फिर से एप्लीकेशन को ओपन करने से स्मार्टफोन पर ज्यादा लोड पड़ता है इसलिए आप बार बार  बैकग्राउंड एप्लीकेशन को बंद न करें।

6Smartphone Charger

जब भी हम स्मार्टफोन खरीदते हैं तब हमें उसके साथ कई सारे आइटम साथ में मिलते हैं उनमें से एक है चार्जर, इस स्मार्टफोन चार्जर से सम्बंधित कई सारे मिथ है उनमें से एक है की हमें केवल फोन के साथ मिले चार्जर का इस्तेमाल करना चाहिए है और दुसरे ब्रांड के चार्जर या लोकल चार्जर का उपयोग नही कर सकते हैं यह बात पूर्ण रूप से सच नही है। आप किसी अन्य स्मार्टफोन के चार्जर से अपने स्मार्टफोन को चार्ज कर सकते हैं लेकिन आपको ध्यान रखना चाहिए की आपके स्मार्टफोन के साथ मिले चार्जर के जो स्पेसिफिकेशन थे वही स्पेसिफिकेशन दुसरे चार्जर के होने चाहिए।

इन्हें भी पढ़ें

7Signal

सभी स्मार्टफोन में सिम के सिग्नल दिखाई देते हैं, कभी कम तो कभी ज्यादा लाइन नजर आते हैं ऐसे कई सारे स्मार्टफोन यूजर सोचते हैं की जितने अधिक सिग्नल के लाइन दिखाई देंगे उतना ही बेहतर कनेक्टिविटी होगा लेकिन ऐसा बिल्कुल नही है। स्मार्टफोन में दिखाई देने वाले सिम के लाइन आपके स्मार्टफोन और  नजदीकी टावर के मध्य की दूरी को दर्शाते हैं।

8Smartphone Battery

स्मार्टफोन यूजर के बीच बैटरी से सम्बंधित कई सारे मिथ देखने को मिलेंगे। नीचे आपको कुछ कॉमन बैटरी से समबन्धित मिथ्स के बारे में बताया गया है जो सच नही है।

  • स्मार्टफोन को चार्ज करने से पहले पूरी तरह डिस्चार्ज कर लें 
  • नए स्मार्टफोन को उपयोग करने से पहले फुल चार्ज कर ले 
  • स्मार्टफोन को बंद रखने से बैटरी ख़राब होता है 
  • जितनी बड़ी बैटरी उतना ज्यादा अच्छा 
  • एप्लीकेशन आपके स्मार्टफोन के बैटरी बैकअप को बढ़ा सकते हैं
  • पॉवर बैंक का इस्तेमाल से बैटरी लाइफ ख़राब होती है 

इन्हें भी पढ़ें

हमने इस आर्टिकल में 07+ Smartphone Myths के बारे में जाना। उम्मीद करते है आपको यह आर्टिकल “Smartphone Myths: 07+ Myths About Smartphone” पसंद आया होगा। अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो और कुछ नया सीखने को मिला हो तो सोशल मीडिया में शेयर जरुर करें।

Smartphone Myths In Hindi, Top 07+ Biggest Smartphone Myths In Hindi

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.